राजनीति

परिषद की बैठक में पार्षदों का हंगामा

Indore Bureau - indoreexpress.com 31-Jan-2019 01:39 pm


इंदौर। प्रदेश सरकार में हुए बदलाव के बाद गुरुवार को पहली बार नगर निगम परिषद की बैठक हुई। सत्ता परिवर्तन के चलते बैठक हंगामेदार रही। परिषद बैठक के एक दिन पहले जो सवाल पार्षदों द्वारा पूछे गए हैं, उनके जवाब बनाने में निगम के अफसर लगे रहे। गुरुवार देर शाम तक पार्षदों के प्रश्नों के जवाब तैयार कर उन्हें परिषद को भेजा गया। वहीं, परिषद की बैठक में भी एक घंटे का ही प्रश्नकाल रहा।
निगम परिषद की बैठक के लिए महज तीन प्रस्ताव रखे गए, जबकि निगम में सत्ताधारी भाजपा सहित कांग्रेस पार्षदों के लगभग 20 से ज्यादा सवाल भी लगे। कांग्रेस ने सवाल-जवाब के लिए एक घंटे के समय को अपर्याप्त बताते हुए इसे बढ़ाने की मांग की, जबकि निगम सभापति अजयसिंह नरूका ने साफ कर दिया कि नियमों में केवल एक घंटे का समय ही प्रश्नोत्तरकाल के लिए तय है। इसलिए एक घंटे में जितने सवाल हो पाएंगे उन्हें ही रखे हैं। निगम परिषद की बैठक में नियमों के हिसाब से ही दोनों पार्टियों के नेताओं को मौका दिया गया। निगम परिषद की बैठक श्रद्धांजलि सभा से शुरू हुई।
चंदू शिंदे निगम आयुक्त आशीष सिंह के पास पहुंचे और गंदे पानी की शिकायत करते हुए कहा कि मैं खुद गंदे पानी से नहा कर आ रहा हूं। शिकायतें कब खत्म होगी।
बैठक में मंत्री तुलसीराम सिलावट के अलावा विधायक संजय शुक्ला, आकाश विजयवर्गीय और विशाल पटेल भी पहुंचे
पार्षद रूपेश देवलिया ने 14 पार्षदों की उपस्थिति मामले में सवाल खड़ा करते हुए कहा कि निगमायुक्त ने चि_ी कैसे जारी की। सभापति को चि_ी जारी करना थी। पार्षदों की उपस्थिति की जानकारी सदन में रखी जाएं। देवलिया ने कहा कि जब परिषद बैठक में आते रहे तो फिर अनुपस्थिति क्यों बताई।
देवलिया के सवाल पर नेता प्रतिपक्ष फौजिया अलीम ने आपत्ति लेते हुए कहा कि मामला हाईकोर्ट में है, तो फिर यहां क्यों लाए।
भाजपा पार्षद जगदीश धनेरिया और टीनू जैन ने कहा कि रजिस्टर उपलब्ध कराए कि पार्षद सदन में आए कि नहीं।
कैबिनेट मंत्री तुलसी सिलावट ने महापौर मालिनी गौड़ को दो बार सफाई में नंबर वन आने पर बधाई दी। साथ ही इंदौर की जनता को भी नंबर बनने पर बधाई दी
परिषद बैठक में पहली बार शामिल हो रहे मंत्री सिलावट, विधायक आकाश विजयवर्गीय, संजय शुक्ला और विशाल पटेल का भी सम्मान हुआ।
मुन्ना लाल यादव ने कहा कि संबल योजना का लाभ लेने में लोगों को दिक्कत आ रही है। इस पर तुलसी सिलावट बोले कि किसी अच्छी योजना में कोई आड़े नहीं आएगा। दिलीप सुरागे के बैठने पर हुआ बवाल। विवाद के बीच बैठक पांच मिनट स्थगित।

ताज़ा खबर

अपना इंदौर