ब्रेकिंग न्यूज

कारोबार

नेशनल मेडिकल कमीशन बिल के विरोध में डॉक्टरों की हड़ताल, कई ऑपरेशन निरस्त

Deepak Sungra - indoreexpress.com 02-Aug-2019 01:28 am


इंदौर. नेशनल मेडिकल कमीशन बिल में एक्सिट परीक्षा सहित अन्य प्रवधान को लेकर एमजीएम मेडिकल कॉलेज के जूनियर डॉक्टरों ने गुरुवार को काम बंद रखा। जूनियर डॉक्टर एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉ. शशांक सिंह ने बताया कि देशभर में जूनियर डॉक्टरों ने काम बंद रखा है। इसीलिए हमने भी 24 घंटे के लिए नियमित सेवा बंद रखी है। यदि आवश्यकता हुई तो इमरजेंसी सेवा का भी बहिष्कार किया जाएगा। हड़ताल के चलते एमवाय अस्पताल में मरीजों के कई ऑपरेशन को निरस्त करना पड़ा। वहीं ओपीडी में भी मरीजों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।
इन प्रावधानों पर आपत्तियां
-प्राइवेट मेडिकल कॉलेज की सीट को अनकेप किया जा रहा है। ऐसे कर मनमाने तरीके से प्राइवेट कॉलेज सीट भर देंगे। मेरिट सूची के छात्रों के मौके छीने जाएंगे।
- इस बिल में ऐसे प्रावधान है जिसके कारण सरकार खुद झोलाछाप डॉक्टर तैयार करेगी।
- एमबीबीएस करने के बाद एक और परीक्षा देना पड़ेगी, यदि छात्र फेल हो गया तो लायसेंस नहीं मिलेगा। उसकी पांच साल की मेहनत बेकार हो जाएगी।
- इसी परीक्षा में मॉडर्न मेडिसिन से जुड़े सभी लोगों को परीक्षा में शामिल होने की पात्रता दे दी जाएगी। इस तरह तो नर्स, टेक्नीशियन भी यह परीक्षा पास कर प्रेक्टिस करने के लिए एलिजिबल हो जाएंगे। इस प्रावधान से झोलाछाप डॉक्टर तैयार होने की आशंका को बल मिलेगा।
- गांव में सेवा देने के नाम पर आयुर्वेदिक, यूनानी, नर्सिंग स्टाफ आदि को ब्रिज कोर्स करा कर यह परीक्षा दिलवाई जाएगी जिसके बाद वह भी एमबीबीएस डॉक्टरों की तरह प्रेक्टिस करने के लिए लाइसेंस धारी हो जाएंगे, जिसका विरोध डॉक्टरों द्वारा किया जा रहा है।

ताज़ा खबर

अपना इंदौर