कारोबार

कचरा लेने में लापरवाही पर गई नौकरी, 50 हजार की पेनल्टी

Indore Bureau - indoreexpress.com 11-Jul-2020 01:25 pm

इंदौर. गीला-सूखा कचरा अलग-अलग लेने में लापरवाही बरतने वाले डोर-टू-डोर कचरा वाहन के ड्राइवर और हेल्पर की जहां नौकरी चली गई, वहीं एनजीओ पर 50 हजार रुपए की पेनल्टी लगाई गई है। इसके साथ ही सफाई दरोगा का वेतन राजसात कर लिया गया है। निगमायुक्त को सफाई व्यवस्था का जायजा लेने के दौरान लापरवाही मिली थी।

निरीक्षण में निगमायुक्त प्रतिभा पाल ने देखा कि जोन-6 के वार्ड 24 में डोर-टू-डोर कचरा संग्रहण वाहन (एमपी-09 जीजी 9634) पर कार्यरत ड्राइवर और हेल्पर कबीटखेड़ी स्थित कचरा ट्रांसफर स्टेशन पर गीला-सूखा कचरा अलग-अलग की बजाय मिक्स करके ला रहे हैं। इस पर उन्होंने कार्रवाई करते हुए ड्राइवर राहुल बमरेले और हेल्पर शिवम मनोज लाहोरे को कार्य मुक्त कर दिया। साथ ही एनजीओ ह्यूमन मैट्रिक संस्था (एचएमएस) पर 50 हजार रुपए की पेनल्टी लगाई, क्योंकि वार्ड 24 में कचरा संग्रहण के दौरान लोगों से गीला-सूखा और जैव अपशिट कचरा अलग-अलग लेने के साथ वाहन में रखवाने की मॉनिटरिंग करने की जिम्मेदारी उक्त एनजीओ की है। वार्ड प्रभारी सफाई दरोगा ओम कल्याणे का वेतन भी राजसात कर लिया गया है। वार्ड में कचरा संग्रहण किए जाने वाले कर्मचारियों पर नियंत्रण नहीं होने और आवंटित दायित्व का समुचित तरीके से निवर्हन नहीं करने पर कार्य नहीं तो वेतन नही के सिद्धांत पर कल्याणे का पांच दिन का वेतन राजसात किया गया है। इधर, जोन क्रमांक 11 वार्ड 49 के डोर टू डोर कचरा संग्रहण वाहन एमपी-09 जीजी 9518 पर कचरा व अन्य सामान वाहन के ऊपर रखा पाया जाने पर ड्राइवर नरेश कैथवास रामजन और हेल्पर विकास विनोद के खिलाफ भी कार्रवाई की गई है। दोनों का 5-5 दिन का वेतन काटा है।

ताज़ा खबर

अपना इंदौर